Monthly Archives: May 2011

बलात्कार – रो रो माँ का हाल बुरा था छाती पीट-पीट चिल्लाये

जब जब मै स्कूल चली तोते सा फिर माँ ने मुझको रोज सिखाया – रोज पढाया क्षुद्र जीव हैं इस समाज में भोली सूरति उनकी प्यार से कोई पुचकारेंगे कोई लालच देंगे तुझको कोई चन्दन कही लगाये तिलक लगाये भी … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment