Monthly Archives: March 2011

सभी रंग घुल जाएँ ऐसे

  सराबोर कर दो  हर मन को अगली होली यार सभी रंग घुल जाएँ ऐसे  एक धरा हो एक पृष्ठ हो एक हमारे मन की आँखें  धर्म जाति व्यव्हार एक हो गुल गुलशन सब खिले मिलेंगे  -अब उस होली त्यौहार … Continue reading

Posted in Uncategorized | 1 Comment

Hello world!

Welcome to WordPress.com. This is your first post. Edit or delete it and start blogging!

Posted in Uncategorized | 1 Comment